Anil Kumble cricketer Complete information02

अनिल कुंबले (Anil Kumble) एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं जिन्होंने अपने खेलने के दिनों में भारतीय क्रिकेट को अपने महत्वपूर्ण योगदानों से सजीव किया। उन्होंने विभिन्न प्रारूपों में अपनी क्रिकेट कारियर को बिताया और उन्होंने तीनों प्रमुख प्रारूपों में (टेस्ट, वनडे और टी20) खेला।

जन्म और प्रारंभिक जीवन: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • जन्म: 17 अक्टूबर, 1970, बैंगलोर, कर्नाटक, भारत।
  • उनका पूरा नाम अनिल राधकृष्णन कुंबले है।
  • वे बैंगलोर में पैसीना स्कूल से शिक्षा प्राप्त करने के बाद क्रिकेट की ओर अपनी कदम बढ़ाए।

क्रिकेट करियर: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • अनिल कुंबले क्रिकेट के प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में से एक हैं, खासकर उनके बॉलिंग स्किल्स के लिए।
  • उन्होंने अपनी टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत 1990 में की और उनका आखिरी टेस्ट मैच 2008 में खेला।
  • वनडे अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी उन्होंने भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व किया, जिनमें 1990 से 2007 तक उन्होंने खेला।
  • उनके पास वनडे में 337 और टेस्ट में 619 विकेट हैं, जिससे वे भारतीय क्रिकेट के सबसे अधिक विकेटधारी खिलाड़ियों में से एक हैं।
  • 1999 में दिल्ली में पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए टेस्ट मैच में उन्होंने 10 विकेट लेकर एक ओवर में जड़े। यह मैच उनके बॉलिंग करियर का एक महत्वपूर्ण हाइलाइट है।
  • उन्होंने 2000 में भारत को अपनी बॉलिंग से पाकिस्तान के खिलाफ विश्वकप में फाइनल तक पहुँचाया, लेकिन भारत ने उस मैच में हार मानी।

Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02
Anil Kumble cricketer Complete information02

कप्तानी: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • उन्होंने 2007-2008 में टेस्ट क्रिकेट में भारतीय टीम की कप्तानी भी की थी, लेकिन यह अवधि केवल एक सीरीज तक ही रही।

पेशेवर जीवन: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • क्रिकेट के बाद, अनिल कुंबले ने क्रिकेट के क्षेत्र में ही अपना करियर जारी रखा, उन्होंने क्रिकेट की कोचिंग और प्रबंधन में भी योगदान दिया।
  • वे 2012 में भारतीय क्रिकेट टीम के कोच रहे और टीम को उनके मार्गदर्शन में उपयोगी सलाह प्राप्त हुई।

सम्मान और पुरस्कार: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • उन्हें 1992 में अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जिससे उन्होंने भारतीय क्रिकेट के लिए बड़ा सम्मान प्राप्त किया।
  • 2015 में, उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक महान बॉलर के रूप में “भारतीय खिलों के लिए आनुपम रत्न” से सम्मानित किया गया।

अन्य दिलचस्प तथ्य: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • अनिल कुंबले एक विधायक (राज्य सभा के सदस्य) भी हैं, और वे भारतीय जनता पार्टी (भा.ज.पा) के सदस्य हैं।

अनिल कुंबले एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर हैं जिन्होंने अपने कैरियर के दौरान विभिन्न माध्यम समूहों के साथ खेला। उन्होंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों ही प्रारूपों में खेला और वे एक स्विंग बॉलर और उपकर्ण क्रिकेटर रहे हैं। Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02
Anil Kumble cricketer Complete information02

नीचे उनके कैरियर के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं की जानकारी दी गई है: Anil Kumble cricketer Complete information02

  1. करियर की शुरुआत: उन्होंने क्रिकेट की पढ़ाई खार एकेडमी से शुरू की थी और बाद में बार्नर और टूट बॉलर के रूप में मशहूर हुए।
  2. टेस्ट क्रिकेट कैरियर: अनिल कुंबले ने विदेशी टेस्ट क्रिकेट में 1996 में अपने डेब्यू कोलंबो, श्रीलंका के खिलाफ खेलकर किया। उन्होंने 17 टेस्ट मैच खेले और 81 विकेट हासिल की।
  3. वनडे इंटरनेशनल कैरियर: वनडे क्रिकेट में, अनिल कुंबले ने 1996 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ अपने वनडे डेब्यू किया। उन्होंने 271 वनडे मैच खेले और 334 विकेट हासिल की।
  4. स्विंग और उपकर्ण क्रिकेट: अनिल कुंबले को उनकी विशेष प्रकार की गेंदबाजी के लिए जाना जाता है, जिसमें उन्होंने गेंद को बाएं से उछाल कर खेला और उपकर्ण भी किया।
  5. कैरियर की समापन: अनिल कुंबले ने अपने अंतिम अंतरराष्ट्रीय मैच को 2002 में खेलकर खुद के क्रिकेट करियर को समाप्त किया।
  6. कोच और क्रिकेट व्यावसायिकता: क्रिकेट के बाद, अनिल कुंबले ने कोचिंग और क्रिकेट व्यावसायिकता में भी अपनी करियर बनाई। उन्होंने मुम्बई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स जैसी टीमों के साथ काम किया है।
  7. क्रिकेट कमेंट्री: अनिल कुंबले ने खुद को एक प्रसिद्ध क्रिकेट कमेंटेटर के रूप में भी साबित किया है। उन्होंने कई अंतरराष्ट्रीय और विश्वगले क्रिकेट मैचों की कमेंट्री की है।

यहां कुछ महत्वपूर्ण जानकारी है जो मैं आपको दे सकता हूं: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • क्रिकेट कैरियर: अनिल कुंबले ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 1990 में की थी और वे प्राथम विश्व टेस्ट खेल में 1992 में भारतीय टीम के सदस्य के रूप में उपस्थित हुए थे। उन्होंने विभिन्न फॉर्मेट्स में क्रिकेट खेला, जैसे कि टेस्ट मैच और वनडे इंटरनेशनल (ODI) मैच।
  • बॉलिंग स्टाइल: अनिल कुंबले एक लेग-ब्रेक बॉलर थे और वे उन्हें अपने लेग-स्पिन गेंदों के लिए जाना जाता था।
  • कैरियर हाइलाइट्स: अनिल कुंबले के कैरियर के दौरान वे कई महत्वपूर्ण योगदान करते रहे हैं। उन्होंने टेस्ट मैचों में कई प्रमुख उपलब्धियाँ हासिल की और उनका नाम भारतीय क्रिकेट के शिर्ष बॉलर्स में शामिल किया जाता है।
  • प्रमुख सफलताएँ: उनका एक प्रमुख योगदान वनडे इंटरनेशनल मैच में उनके पारे 1998 में भारतीय टीम को एसिया कप जीतने में मदद करना था। उन्होंने इस टूर्नामेंट में अपने बॉलिंग स्किल्स का बेहतरीन प्रदर्शन किया और टीम को जीत का मार्ग दिखाया।
  • पदक और सम्मान: अनिल कुंबले को उनके क्रिकेट कैरियर के दौरान कई पदक और सम्मान से नवाजा गया, जिनमें अर्जुन अवार्ड भी शामिल है।
  • पूरी क्रिकेट कैरियर: उन्होंने अपनी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की पेशेवर खेली वनडे इंटरनेशनल और टेस्ट मैच में, और इनके खेल करियर का समापन 2007 में हुआ।

Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02
Anil Kumble cricketer Complete information02

वह एक वर्ष 1987 में भारतीय क्रिकेट टीम में श्रेणी दर्ज क्रिकेट के खिलाड़ी के रूप में अपने करियर की शुरुआत की। उन्होंने 1990 के बाद अनेक सालों तक भारतीय क्रिकेट टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य के रूप में खेला।

उनका खिलाड़ियों में अद्वितीय संघर्ष और समर्पण था और वे खुद को एक उच्च दर्जे के खिलाड़ी के रूप में साबित करने में सफल रहे। उन्होंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों ही फॉर्मेट में भारतीय टीम के लिए अपनी प्रतिष्ठा स्थापित की।

वनडे क्रिकेट में, उन्होंने 1998 में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में पदभार संभाला और उन्होंने टीम को 2000 में ICC चैम्पियंस ट्रॉफी जीतने में मार्गदर्शन किया।

टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने भी भारतीय टीम के कप्तान के रूप में कई महत्वपूर्ण मैच और सीरीज का कमाल किया।

अनिल कुंबले का कोचिंग करियर भी काफी सफल रहा है। उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में भी काम किया और टीम को विभिन्न सीरीज में सफलता दिलाई।

कुंबले को उनके समर्पणीय खेल और क्रिकेट में उनके योगदान के लिए पुरस्कृत किया गया है। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में कई रिकॉर्ड बनाए और भारतीय क्रिकेट को गर्व महसूस कराया।

सितंबर 2021 से पहले, अनिल कुंबले भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व क्रिकेटर और कोच रहे हैं। वे 17 अक्टूबर 1971 को मुम्बई, महाराष्ट्र, भारत में पैदा हुए थे। उन्होंने अपने क्रिकेट करियर के दौरान स्पिन गेंदबाज के रूप में भारतीय टीम में खेला।

अनिल कुंबले का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू 1990 में हुआ था और उन्होंने 2000 तक भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य के रूप में खेला। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 132 मैच और वनडे इंटरनेशनल में 271 मैच खेले। उन्होंने टेस्ट मैचों में 619 और वनडे मैचों में 337 विकेट लिए। Anil Kumble cricketer Complete information02

अनिल कुंबले एक उत्कृष्ट स्पिन गेंदबाज रहे हैं और उनका योगदान भारतीय क्रिकेट के फ़ील्ड में महत्वपूर्ण रहा है। वे भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के रूप में भी काम कर चुके हैं और उन्होंने टीम को कई महत्वपूर्ण जीत दिलाई है।

अनिल कुंबले एक पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी और क्रिकेट कोच हैं। उन्होंने मुंबई क्रिकेट टीम के लिए बाउलर के रूप में खेला और उनका अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है।

उन्होंने अपने करियर के दौरान 1990 और 2000 के दशक में भारतीय क्रिकेट टीम के एक महत्वपूर्ण सदस्य के रूप में खेला। वे एक लेग स्पिनर थे और उन्होंने बहुत सारे मैचों में भारत के लिए क्रिकेट खेला।

अनिल कुंबले का कोच बनना भी उनके करियर के बाद का कदम था। उन्होंने 2012 में भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के रूप में नियुक्ति प्राप्त की थी। उनके कोच के दौरान, भारतीय क्रिकेट टीम ने महत्वपूर्ण जीत हासिल की और विशेष रूप से विदेशों में शानदार प्रदर्शन किया।

कुंबले के कोच के दौरान, भारतीय क्रिकेट टीम ने 2018 में ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज जीती, जिसने उनके कोचिंग कौशल की प्रशंसा की। हालांकि, 2019 में उन्होंने भारतीय क्रिकेट नियमित में कोच की जिम्मेदारी से इस्तीफा दे दिया था।

Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02
Anil Kumble cricketer Complete information02

अनिल कुंबले को उनके क्रिकेट के क्षेत्र में की गई महत्वपूर्ण योगदान के लिए सम्मानित किया गया है, और उन्होंने भारतीय क्रिकेट को अपने खेल और कोचिंग कैरियर के माध्यम से विश्व मंच पर प्रतिष्ठित किया।

क्रिकेट करियर: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • अनिल कुंबले ने 1992 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की। वे भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बीते दशक में महत्वपूर्ण रोल निभाते थे।
  • उनका विशेषज्ञता क्षेत्र वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में था।
  • उन्होंने वनडे क्रिकेट में अपने अद्वितीय गेंदबाजी के लिए प्रसिद्ध होने के बाद ‘जादूगर’ की उपाधि प्राप्त की।
  • उन्होंने 1998 में एक ओडीआई मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 6 गेंदों में 6 विकेट लेने की आश्चर्यजनक प्रदर्शन की थी।

कोच और क्रिकेट प्रशिक्षण: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • अनिल कुंबले ने अपनी क्रिकेट करियर के बाद कोचिंग में भी अपनी पूरी भूमिका निभाई।
  • उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के वनडे और टेस्ट टीम के लिए विभिन्न पदों पर कोच के रूप में काम किया है।
  • उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम को कई महत्वपूर्ण सीरीजों में मार्गदर्शन किया है, जिनमें भारत ने अपनी प्रथम वनडे और टेस्ट सीरीज जीती।

लेखक और मीडिया व्यक्तित्व: Anil Kumble cricketer Complete information02

  • अनिल कुंबले के पास क्रिकेट के साथ ही लेखन कौशल भी है।
  • उन्होंने अपनी लेखनी कौशल का प्रदर्शन कई प्रमुख क्रिकेट समाचार पत्रिकाओं और वेबसाइटों पर किया है।

Anil Kumble cricketer Complete information02

Anil Kumble cricketer Complete information02
Anil Kumble cricketer Complete information02

अनिल कुंबले क्रिकेट के मामले में एक प्रमुख स्थान रखते हैं: Anil Kumble cricketer Complete information02

  1. खिलाड़ी करियर: अनिल कुंबले ने अपनी क्रिकेट करियर की शुरुआत 1990 में की थी और 2000 तक भारतीय टीम के हिस्से के रूप में खेलते रहे। वे एक उच्चतम क्रिकेट स्तरीय गेंदबाज थे और उन्होंने तेज गेंदबाजी के साथ अपने नाम कई महत्वपूर्ण विकेट्स भी लिए।
  2. कप्तानी: अनिल कुंबले ने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी भी की थी। वे 1998 में भारतीय टीम के कप्तान बने थे और टेस्ट मैचों में टीम का मार्गदर्शन किया।
  3. कोचिंग करियर: अनिल कुंबले के बाद क्रिकेट की दुनिया में उनका कोचिंग करियर शुरू हुआ। वे भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के रूप में काम करने लगे और टीम को मार्गदर्शन देने में सहायक रहे।
  4. क्रिकेट विश्लेषक और मीडिया व्यक्तित्व: अनिल कुंबले को क्रिकेट के क्षेत्र में उनकी विशेषज्ञता के लिए भी पहचाना जाता है। वे क्रिकेट खेल के विश्लेषणकर्ता और मीडिया में एक प्रमुख व्यक्तित्व भी हैं।
  5. सम्मान और पुरस्कार: अनिल कुंबले को उनकी क्रिकेट प्रदर्शनों के लिए कई सम्मान और पुरस्कार से भी नवाजा गया है।

कुम्बले क्रिकेट के साथ-साथ एक महान उपकरणकार भी रहे हैं, और उन्होंने अपनी खिलाड़ी करियर के दौरान कई यादगार क्रिकेट उपलब्धियाँ हासिल की हैं: Anil Kumble cricketer Complete information02

  1. टेस्ट क्रिकेट: उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे महत्वपूर्ण फॉर्मेट में खेला, जिसमें उन्होंने 132 टेस्ट मैच खेले और 619 विकेट लिए।
  2. वनडे इंटरनेशनल (ODI) क्रिकेट: उन्होंने वनडे इंटरनेशनल में भी 271 मैच खेले और 337 विकेट लिए।
  3. टेस्ट मैच में 10 विकेट लेने: उन्होंने एक टेस्ट मैच में 10 विकेट लेने का विशेष क्षमता प्रदर्शित की थी, जो उन्हें क्रिकेट इतिहास में ऐतिहासिक महत्वपूर्णता देता है।
  4. वर्ल्ड कप 1996: उन्होंने वर्ल्ड कप 1996 में भी भारतीय टीम का हिस्सा बना और कुल 15 मैचों में 12 विकेट लिए।
  5. क्रिकेट कोच और आर्थिक निदेशक: क्रिकेट के बाद, उन्होंने कोच के रूप में भारतीय क्रिकेट टीम की मार्गदर्शन की और टीम को कई महत्वपूर्ण जीत दिलाई।

अनिल कुंबले क्रिकेट जगत में अपनी महत्वपूर्ण योगदानों के लिए प्रसिद्ध हैं और उन्हें एक महान भारतीय क्रिकेटर के रूप में स्मरण किया जाता है।

Sunil Gavaskar cricketer Complete information01

wikipedia