Rahul Dravid cricketer complete information19

राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) भारतीय क्रिकेटर थे जिन्हें “द वाल” के नाम से भी जाना जाता था। उन्होंने अपने अद्भुत बैटिंग और कॉन्सिस्टेंसी के लिए ख्याति प्राप्त की थी। राहुल द्रविड़ को शांत, संवेदनशील और उत्कृष्ट खेलने वाले खिलाड़ियों के रूप में जाना जाता है। उन्होंने अपने करियर में बेहद महत्वपूर्ण योगदान दिया और विश्व क्रिकेट के एक प्रमुख खिलाड़ियों में से एक बने।

जन्म और परिवार: Rahul Dravid cricketer complete information19

  • राहुल द्रविड़ का जन्म 11 जनवरी, 1973 को इंदौर, मध्य प्रदेश, भारत में हुआ था।
  • उनके पिता का नाम शरद द्रविड़ और माता का नाम शेला द्रविड़ था।

क्रिकेट करियर: Rahul Dravid cricketer complete information19

  • राहुल द्रविड़ को एक स्ट्रोंग डेफेंसिव टेक्निक और क्रिकेट के तारीकों का ज्ञान रखने के लिए जाना जाता है।
  • उन्होंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों में भारतीय टीम के कप्तान के रूप में भी सेवा की।
  • उनका टेस्ट डेब्यू 1996 में इंग्लैंड के खिलाफ हुआ था और वनडे डेब्यू 1996 में पाकिस्तान के खिलाफ हुआ था।

Rahul Dravid cricketer complete information19

Rahul Dravid cricketer complete information19
Rahul Dravid cricketer complete information19

कुछ रिकॉर्ड: Rahul Dravid cricketer complete information19

  • राहुल द्रविड़ को 13,288 रन्स के साथ टेस्ट में भारत के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों में से एक बनाया गया है।
  • उन्होंने टेस्ट में 36 शतक और वनडे में 12 शतक बनाए।
  • उन्होंने विश्व कप और चैंपियंस ट्रॉफी में भारतीय टीम का हिस्सा बनते हुए महत्वपूर्ण योगदान दिया।

सेवा की समाप्ति: Rahul Dravid cricketer complete information19

  • राहुल द्रविड़ ने 2012 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। उनका अंतिम टेस्ट भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच बैंगलोर में खेला गया था।
  • वनडे और टेस्ट क्रिकेट संख्या दोनों फॉर्मेट में उन्होंने विश्व क्रिकेट के अनेक सबसे महत्वपूर्ण टूर्नामेंट में भारतीय टीम के लिए अहम योगदान दिया।

अन्य योग्यता: Rahul Dravid cricketer complete information19

  • राहुल द्रविड़ ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान खिलाड़ियों के माध्यम से भारतीय क्रिकेट टीम के विकास में बड़ा योगदान दिया है।
  • उन्हें 2018 में नेशनल खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

क्रिकेटर राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और एक प्रतिभाशाली बैट्समैन थे। उनका बड़ा भाई विजय द्रविड़ भी क्रिकेटर रहे थे। राहुल द्रविड़ को ‘द वॉल’ के नाम से भी जाना जाता है, जो उनके अत्यधिक स्थिरता और धैर्य के लिए प्रसिद्ध है। उन्हें क्रिकेट खेलने के तकनीकी दक्षता के लिए भी प्रशंसा मिली है।

Rahul Dravid cricketer complete information19

Rahul Dravid cricketer complete information19
Rahul Dravid cricketer complete information19

द्रविड़ की इंटरनेशनल करियर की शुरुआत 1996 में टेस्ट क्रिकेट के साथ हुई, जहां उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में एक पदार्पण मैच खेला। उनके द्वारा टेस्ट में कुल 13,288 रन बनाए गए थे, जिसमें 36 शतक और 63 अर्धशतक शामिल थे। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में अधिकतम 270 गेंदों तक की एक पारी भी खेली थी। वनडे इंटरनेशनल में, राहुल द्रविड़ ने 344 वनडे मैचों में 10,889 रन बनाए थे, जिसमें 12 शतक और 83 अर्धशतक थे। उनका वनडे इंटरनेशनल डेब्यू 1996 में आयुध के खिलाफ हुआ था।

अपने बैटिंग के साथ-साथ, राहुल द्रविड़ एक अच्छे विकेटकीपर भी थे और कई बार विकेटकीपिंग के रूप में भी टीम की मदद करते थे। राहुल द्रविड़ को 2004 में पद्म भूषण, 2018 में पद्म विभूषण और 2021 में भारत रत्न सम्मान से भी नवाजा गया।

क्रिकेटर राहुल द्रविड़ का अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास 2012 में हुआ था, लेकिन उन्होंने अधिकांश समय भारतीय क्रिकेट के प्रशिक्षक, निदेशक और मेंटर के रूप में गुजारा। वे भारतीय क्रिकेट टीम के बेंगलुरु सेंट्रल उच्चतम निदेशक और नए क्रिकेट अधिकारियों के सदस्य भी रहे हैं। यह थी क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी। उनके खेल का एक समय से बहुत प्रशंसा किया गया था और उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक सर्वश्रेष्ठ बैट्समैन में सम्मानित किया जाता है।

राहुल द्रविड़ की क्रिकेट के क्षेत्र में एक गहरी और लंबी करियर रही है। उन्होंने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान भारतीय टेस्ट और वनडे टीम के लिए अहम भूमिकाएं निभाई हैं।

कुछ महत्वपूर्ण कार्य: Rahul Dravid cricketer complete information19

  1. द्रविड़ ने टेस्ट क्रिकेट में विदेशी भूमिकाओं पर भारत के लिए विशेष योगदान दिया है। वे इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका और अन्य देशों में भारतीय टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करने में सफल रहे।
  2. उनके वनडे करियर में भी उन्होंने अपने बेहतरीन बल्लेबाजी के लिए अप्रत्याशित स्थान बनाया।
  3. राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में भी काम किया।
  4. 2003 में भारतीय टीम के कोच के रूप में भी उनका महत्वपूर्ण योगदान रहा।
  5. उन्हें 2004 में पद्मश्री से नवाजा गया था।
  6. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 13,288 रन बनाए और 200 वनडे में 10,889 रन बनाए।
  7. वे क्रिकेट की विश्व चैंपियंस ट्रॉफी के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी कई मैचों में मेंटर रहे हैं।
  8. उन्होंने क्रिकेट के बाहर भी अपने संदेश और अनुभवों के लिए प्रसिद्धि हासिल की हैं।

Rahul Dravid cricketer complete information19

Rahul Dravid cricketer complete information19
Rahul Dravid cricketer complete information19

राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट विश्व में एक उच्च स्थान प्राप्त किया है और उनकी बल्लेबाजी, विश्वसनीयता और नम्रता के लिए उन्हें खूब प्रशंसा मिली है। उनके खेल की एक खास विशेषता थी कि वे बड़े जंप वाली गेंदों को बड़ी आसानी से संभाल लेते थे, इसलिए उन्हें लॉन्ग फॉर्मेट में टेस्ट क्रिकेट में ‘द वॉल’ के उपनाम से जाना जाता है। वह बांगलोर में बड़े हुए और क्रिकेट के क्षेत्र में अपनी प्रशिक्षण शुरू करने के बाद मुंबई चले गए।

राहुल द्रविड़ को “वल्ली” के नाम से भी जाना जाता है। उन्होंने अपने बहुत सारे शानदार प्रदर्शन के लिए भारतीय क्रिकेट के चर्चित बैट्समैनों में से एक के रूप में खुद को साबित किया है। वे मुख्य रूप से टेस्ट मैचों में उत्कृष्टता के लिए प्रसिद्ध हैं और विश्व बैट्समैनों की श्रृंगार सूची में शामिल हैं। कप्तान के रूप में राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट टीम को विश्व कप 2007 में सेमीफाइनल तक पहुंचाया था। वे बैट्समैन के रूप में भी एकदिवसीय और टेस्ट क्रिकेट में अनेक अद्भुत प्रदर्शन करने के लिए प्रसिद्ध हैं।

राहुल द्रविड़ ने अपने करियर में कई बड़े रिकॉर्ड बनाए, जिनमें 164 टेस्ट मैचों में 13,288 रन और 344 वनडे अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 10,889 रन शामिल हैं। उनके एक दिवसीय क्रिकेट की अंतर्राष्ट्रीय करियर में 12 शतक भी थे। राहुल द्रविड़ का क्रिकेट के रूप में योगदान और व्यक्तिगतता के लिए क्रिकेट के प्रशंसकों के मन में एक विशेष स्थान है। उन्हें उनकी निष्ठा, संवेदनशीलता और गेंदबाजों के खिलाफ उनके सामर्थ्य के लिए जाना जाता है। उन्होंने अपने करियर के दौरान भारतीय टेस्ट और वनडे टीम के लिए खेला। उनके बेहतरीन तकनीकी क्वालिटीज और विश्वसनीयता के कारण, उन्हें “द वॉल” के उपाधि से भी जाना जाता है।

राहुल द्रविड़ का टेस्ट क्रिकेट में बहुत बड़ा योगदान रहा है। उनके 164 टेस्ट मैचों में, उन्होंने 13,288 रन बनाए जिसमें 36 शतक और 63 अर्धशतक शामिल थे। उनकी टेस्ट औसत 52.31 रन प्रति गेम थी, जो उन्हें एक उत्कृष्ट बल्लेबाज बनाता है। वनडे अंतरराष्ट्रीय में, राहुल द्रविड़ ने 344 मैचों में 10,889 रन बनाए, जिसमें 12 शतक और 83 अर्धशतक शामिल थे। उनकी वनडे औसत 39.16 रन प्रति गेम थी।

राहुल द्रविड़ को एक विकेटकीपर-बल्लेबाज के रूप में भी जाना जाता है, और उन्होंने कई मैचों में विकेटकीपिंग करके टीम को सहायता प्रदान की। उन्होंने विश्व कप 1999 में एक शानदार प्रदर्शन किया था, जहां उन्होंने 461 रन बनाए और भारतीय टीम को फाइनल तक पहुंचाया था। उन्हें मैन ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया था। 2007 में, उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के रूप में भी काम किया। उन्होंने युवा खिलाड़ियों को तकनीकी और मानसिक स्तर पर बेहतर बनाने के लिए अपने अनुभव से सहायता प्रदान की।

Rahul Dravid cricketer complete information19

Rahul Dravid cricketer complete information19
Rahul Dravid cricketer complete information19

राहुल द्रविड़ को 2012 में भारतीय क्रिकेट संघ (BCCI) द्वारा क्रिकेट कीर्ति पुरस्कार से भी नवाजा गया था। वे 2012 में क्रिकेट से संन्यास लेकर टीम इंडिया के खिलाफ खेलने की रिटायरमेंट कर दी। राहुल द्रविड़ ने अपने करियर के दौरान एक नम्बर तीन बल्लेबाज के रूप में क्रिकेट के इतिहास में अपनी जगह बना ली और उन्हें भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण और प्रभावशाली खिलाड़ी के रूप में याद किया जाएगा।

  • खिलाड़ी जीवन: राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट टीम के बारे में पहली बार वर्ष 1996 में डेब्यू किया था। उन्होंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों में अपनी प्रदर्शनी से लोगों को मोह लिया। वनडे में उन्होंने 2004 तक 344 वनडे मैचों में खेला और इस दौरान 10,889 रन्स बनाए। उनका बेस्ट स्कोर 153 रन था। टेस्ट मैच में, उन्होंने 1996 से 2012 तक 164 टेस्ट मैचों में भाग लिया और इस दौरान 13,288 रन्स बनाए। उनका बेस्ट स्कोर टेस्ट में 270 रन था।
  • कप्तानी: राहुल द्रविड़ ने वनडे और टेस्ट दोनों में भारतीय टीम के कप्तान के रूप में भी काम किया था। उन्होंने 2003 विश्व कप के समय टेस्ट क्रिकेट में कप्तानी की थी।
  • अन्य उपलब्धियां: राहुल द्रविड़ को 2004 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। उन्हें भारतीय क्रिकेट टीम के साथ विश्व कप और चैम्पियंस ट्रॉफी में भी शानदार प्रदर्शन करने का मौका मिला।

राहुल द्रविड़ को सम्मानित किया गया और उन्हें खेल के क्षेत्र में उनके योगदान की पहचान है। उन्होंने विदेशी खिलाड़ियों के खिलाफ अपने आदर्शवादी और सजग खेल के लिए सराहा जाता है और उन्हें भारतीय क्रिकेट की एक बड़ी प्रेरणा के रूप में देखा जाता है।

राहुल द्रविड़ को “वाल ऑफ इंडियन क्रिकेट” (The Wall of Indian Cricket) के नाम से भी जाना जाता है, इसलिए कि उनकी खिलाड़ी बनी हुई और अनवरत धैर्यपूर्वक बल्लेबाज़ी के लिए उन्हें माना जाता है। वह एक सोलिड डिफेंसिव टेक्नीक के साथ जाने जाते थे और दबाव के समय भी शानदार रवैये बनाते थे।

Rahul Dravid cricketer complete information19

Rahul Dravid cricketer complete information19
Rahul Dravid cricketer complete information19

राहुल द्रविड़ ने 1996 से 2012 तक अपने अंतरराष्ट्रीय करियर के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बहुत सारे यादगार प्रदर्शन किए। उनकी ओडी और टेस्ट क्रिकेट की कैरियर भर में कुल 10,000 से अधिक रन बनाने का कामयाबी रहा, जिसमें कई शतक और शतरंज का भी योगदान था। उन्होंने टेस्ट में 13,288 रन बनाए और ओडी में 10,889 रन बनाए।

राहुल द्रविड़ का यह भी महत्वपूर्ण योगदान रहा कि वे ओडी क्रिकेट के एक अत्यंत अनुभवी और उत्कृष्ट विकेटकीपर भी थे। वे टेस्ट क्रिकेट में 210 और ओडी में 196 कैचेज बनाने के साथ, विकेटकीपिंग में भी अपने कौशल का प्रदर्शन कर चुके हैं।

इनके साथ-साथ, द्रविड़ ने 2007 में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में भी काम किया और वे 2011 के विश्व कप के समय तक भारतीय क्रिकेट टीम को एक विश्व कप जीतने में सफल रहे।

2021 में, राहुल द्रविड़ ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य प्रशासक और नवीनतम समय में क्रिकेट के राष्ट्रीय अकादमी के निदेशक के रूप में काम किया था।

कुल मिलाकर, राहुल द्रविड़ को भारतीय क्रिकेट के इतिहास में एक अविश्वसनीय बल्लेबाज़ और क्रिकेट प्रशासक के रूप में याद किया जाएगा। उनके खिलाड़ी बनी हुई और नम्र स्वभाव के कारण उन्हें क्रिकेट दुनिया भर में बहुत प्रशंसा और आदर मिला है।

Sachin Tendulkar cricketer complete information10

wikipedia