Sourav Ganguly cricketer complete information 01

सौरव गांगुली, जिन्हें दादा नाम से भी जाना जाता है, एक पूर्व भारतीय क्रिकेटर थे जिन्होंने अपने करियर में भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में बड़े प्रमुख कार्य किए। वे 8 जुलाई 1972 को कोलकाता, पश्चिम बंगाल, भारत में पैदा हुए थे। गांगुली को उनके अद्वितीय बैटिंग स्टाइल, लीडरशिप कौशल और क्रिकेट जगत में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए याद किया जाता है।

कैरियर की शुरुआत: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली ने 1992 में भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य के रूप में अपना टेस्ट क्रिकेट करियर शुरू किया। वे विमानचल क्रिकेट क्लब के सदस्य भी रहे हैं।

अंतरराष्ट्रीय करियर: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • गांगुली ने टेस्ट क्रिकेट में 16 विकेटन और 7,212 रन बनाकर बड़ा प्रमुख योगदान दिया।
  • उनका वनडे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट भी बेहद सफल रहा, जिसमें उन्होंने 190 मैचों में 11,363 रन बनाए और 100 विकेट लिए।

Sourav Ganguly cricketer complete information 01

Sourav Ganguly cricketer complete information 01
Sourav Ganguly cricketer complete information 01

कप्तानी: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली ने 2000 से 2005 तक भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी की। उनके कप्तान बनने के बाद, भारतीय क्रिकेट टीम ने कई महत्वपूर्ण जीत हासिल की, जिनमें से कुछ अहम सीरीज और मुकाबले थे।

महत्वपूर्ण योगदान: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट को वनडे क्रिकेट में नए ऊंचाइयों तक पहुंचाया और उनकी कप्तानी के दौरान टीम ने विश्व कप में भी कुछ अच्छे प्रदर्शन किए।

सामाजिक पहचान: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • गांगुली को बेंगल टाइगर्स के लिए भी खेलते हुए देखा गया, जिनके कप्तान के रूप में उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

संन्यास: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • 2008 में, सौरव गांगुली ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया, लेकिन वे फिर भी IPL में खेलते रहे और बेंगल टाइगर्स के कोच के रूप में भी काम किया।

अन्य दिलचस्प तथ्य: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली को एक बहुत ही प्रेरणास्त्रोत माना जाता है, क्योंकि उन्होंने कमजोर परिस्थितियों में भी सफलता प्राप्त की और भारतीय क्रिकेट को एक नई दिशा दिखाई।
  • उन्होंने क्रिकेट के अलावा क्रिकेट दुनिया में कमेंट्री करने की भी कोशिश की है और उनकी कमेंट्री का भी लोगों के बीच बड़ा प्रशंसाप्राप्त हुआ है।
  • सौरव गांगुली एक सफल और प्रेरणास्त्रोत क्रिकेटर के रूप में भारतीय खेल इतिहास में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं, जिन्होंने अपने योगदान से क्रिकेट को नए ऊंचाइयों तक पहुंचाया।

सौरव गांगुली, जिन्हें दादा नाना नानी पार्क के राजकुमार संग्रहालय, कोलकाता के उपनगर में जन्मा था, एक प्रसिद्ध भारतीय क्रिकेटर, क्रिकेट प्रशासक और क्रिकेट प्रशासनकर्ता है। उन्हें “दादा” के नाम से पुकारा जाता है। उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में भी काम किया और विश्व क्रिकेट के शीर्ष खिलाड़ियों में से एक माने गए हैं।

Sourav Ganguly cricketer complete information 01

Sourav Ganguly cricketer complete information 01
Sourav Ganguly cricketer complete information 01

यहाँ, कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  1. जन्म और परिवार: सौरव गांगुली का जन्म 8 जुलाई 1972 को हुआ था। उनके पिता का नाम चंदन गांगुली और माता का नाम नीरोदा गांगुली है।
  2. क्रिकेट की शुरुआत: सौरव गांगुली ने अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत 1992 में की थी, जब उन्होंने देब्यू किया था।
  3. कप्तानी: उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में भी काम किया। उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने कई महत्वपूर्ण जीत हासिल की।
  4. वनडे और टेस्ट क्रिकेट: गांगुली वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले खिलाड़ियों में से एक थे। उन्होंने अपने करियर में कई विशेषणकर उपलब्धियाँ हासिल की, जिनमें से कुछ हैं:
    • पहले बातचीतयों में उन्होंने वनडे क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ियों में एक थे।
    • उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी कई रिकॉर्ड बनाए, जैसे कि सबसे ज्यादा दोहरे शतक (Double Centuries) बनाने वाले भारतीय खिलाड़ियों में एक होना।
  5. क्रिकेट प्रशासन में योगदान: सौरव गांगुली क्रिकेट प्रशासन में भी अपने योगदान देते रहे हैं। उन्होंने बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (BCCI) के अध्यक्ष के रूप में भी काम किया है।
  6. प्रसिद्धि: सौरव गांगुली को भारतीय क्रिकेट के एक महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान और प्रसिद्ध खिलाड़ियों में से एक के रूप में माना जाता है। उन्हें क्रिकेट जगत में “दादा” के नाम से संदर्भित किया जाता है।
  7. निवृत्ति: सौरव गांगुली ने अपने खेल करियर को समाप्त कर दिया है, लेकिन उनका योगदान भारतीय क्रिकेट के विकास में अब तक महत्वपूर्ण है।

सौरव गांगुली का खेल करियर, कप्तानी, और क्रिकेट प्रशासन में योगदान उन्हें भारतीय क्रिकेट के महत्वपूर्ण व्यक्तियों में से एक बनाते हैं।

सौरव गांगुली, जिन्हें दादा के नाम से भी जाना जाता है, एक पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं जिन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में अपना योगदान दिया। उन्होंने अपने खिलाड़ी और नेतृत्व के लिए प्रसिद्धता प्राप्त की है और उन्हें भारतीय क्रिकेट के सबसे उपयोगी खिलाड़ी में से एक के रूप में माना जाता है।

Sourav Ganguly cricketer complete information 01

Sourav Ganguly cricketer complete information 01
Sourav Ganguly cricketer complete information 01

निम्नलिखित हैं सौरव गांगुली की मुख्य जानकारी: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

जन्म और परिवार: सौरव गांगुली का जन्म 8 जुलाई 1972 को कलकत्ता, उत्तर पश्चिम बंगाल (अब कोलकाता, पश्चिम बंगाल) में हुआ था। उनके पिता का नाम चंदन गांगुली है और मां का नाम नीरुपम गांगुली है।

क्रिकेट की करियर: सौरव गांगुली को मुख्य रूप से एक वरिष्ठ बैट्समन के रूप में याद किया जाता है, लेकिन वे एक उत्कृष्ट क्रिकेट कप्तान भी थे। उन्होंने वनडे और टेस्ट क्रिकेट दोनों में भारतीय टीम के लिए खेला। उनका डेब्यू टेस्ट क्रिकेट में 1996 में हुआ था और वनडे क्रिकेट में 1992 में।

कप्तानी करियर: सौरव गांगुली ने 2000 से 2005 तक भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में काम किया। उनके नेतृत्व में भारतीय टीम ने कई महत्वपूर्ण जीत हासिल की, जिनमें से सबसे यादगार मोमेंट 2002 में इंग्लैंड में हुआ नाटवेस्ट सीरीज का जीतना है।

उपयोगी बैट्समन: सौरव गांगुली को उनके बैटिंग कौशल के लिए भी जाना जाता है। उन्होंने अपनी करियर में कई महत्वपूर्ण स्कोर बनाए और वनडे और टेस्ट में दोनों प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन किया।

प्रसिद्धि और सम्मान: सौरव गांगुली को उनके योगदान के लिए भारतीय क्रिकेट में कई सम्मान प्राप्त हुए हैं। उन्हें पद्म श्री पदक से सम्मानित किया गया है और उन्होंने भारतीय क्रिकेट को विश्व स्तर पर प्रतिष्ठित किया।

क्रिकेट के बाद: सौरव गांगुली क्रिकेट के बाद भी क्रिकेट संघटनों में अपना योगदान देते रहे हैं, जैसे कि वेस्ट इंडीज के प्रति प्रमुख उपन्यास सीरीज में उनकी भूमिका। यह थी क्रिकेटर सौरव गांगुली की कुछ मुख्य जानकारी। उनके योगदान ने भारतीय क्रिकेट को एक नया मुकाम दिलाया और उन्हें भारतीय खेल की महत्वपूर्ण व्यक्तित्वों में से एक बना दिया।

Sourav Ganguly cricketer complete information 01

Sourav Ganguly cricketer complete information 01
Sourav Ganguly cricketer complete information 01

क्रिकेट के प्रमुख अंश: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  1. गांगुली का क्रिकेट करियर 1992 में वनडे इंटरनेशनल (ODI) में शुरू हुआ था, जब वे इंडियन टीम के खिलाड़ियों के रूप में दिबुत किए गए।
  2. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी अपना दिबुत 1996 में किया और तुरंत ही अपनी मानवर प्रदर्शनी से ध्यान आकर्षित किया।
  3. सौरव गांगुली ने भारतीय क्रिकेट के सबसे सफल कप्तानों में से एक के रूप में काम किया। उन्होंने भारतीय टीम की कप्तानी 2000 से 2005 तक की थी और उन्होंने टीम को विभिन्न युद्धस्थलों पर महत्वपूर्ण जीत दिलाई।
  4. उन्होंने 2004 में भारतीय टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीन टेस्ट मैचों की सीरीज जीतने में कप्तान के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।
  5. उनकी कैरियर में बनाए गए कई रिकॉर्ड शामिल हैं, जिनमें उनके 22 टेस्ट और 11 वनडे शतक शामिल हैं।
  6. गांगुली का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास 2008 में हुआ, लेकिन उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में खेलना जारी रखा।
  7. गांगुली बेंगल टाइगर्स की IPL टीम के मालिक भी रहे हैं और उन्होंने क्रिकेट के प्रति अपने समर्पण को दिखाते हुए बूक के रूप में “आट नॉ पाट” का आवलोकन दिया।
  8. सौरव गांगुली को विश्व क्रिकेट के मैदान में उनके प्रतिष्ठित खिलाड़ियों में गिना जाता है और उन्हें भारतीय क्रिकेट के सशक्त आवाज के रूप में याद किया जाता है।

यह केवल कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं की सारगर्भित जानकारी है, सौरव गांगुली के विस्तृत करियर और उनके योगदान की अधिक जानकारी के बारे में अधिक जानने के लिए, आपको विभिन्न स्रोतों की तरफ देखने की सिफारिश की जा सकती है।

सौरव गांगुली का क्रिकेट करियर: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • गांगुली ने 1992 में भारतीय क्रिकेट टीम में अपने डेब्यू किया और उन्होंने वनडे इंटरनेशनल मैच में अपनी प्रथम पारी 3 रन्स बनाई थी।
  • उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में भी अपने पहले टेस्ट मैच को 1996 में खेला और उन्होंने अपने पहले इंनिंग्स में 131 रन्स बनाए।
  • गांगुली का करियर इस समय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सबसे प्रमुख बैटिंग स्टाइल्स में से एक माना जाता है। उनकी बैटिंग की शैली उनके विकेट की दोनों ओर पॉजिशन में प्रभावी थी, जिससे उन्होंने विपक्षी गेंदबाजों को कठिनाईयों में डाल दिया।
  • उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 16 शतक और वनडे इंटरनेशनल में 22 शतक बनाए।

कप्तानी करियर: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली 2000 से 2005 तक भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे। उन्होंने टीम को नए ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए अपने नेतृत्व में महत्वपूर्ण योगदान दिया।
  • उनके कप्तानी के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम ने 2002 में इंग्लैंड में नईलैंड के खिलाफ नवरात्रि सीरीज जीती और 2003 में आयरलैंड में वनडे विश्व कप का फाइनल पहुंचा।

अन्य महत्वपूर्ण जानकारी: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली 2005 में कप्तानी से हटाए गए और उनके बाद क्रिकेट करियर में कुछ अध्यापकीय समस्याओं का सामना करना पड़ा।
  • गांगुली के प्रशंसक उन्हें उनके उत्कृष्ट लीडरशिप और आदर्श संग्रहण के लिए याद करते हैं।
  • उन्हें 2008 में कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के को-उनर के रूप में भी देखा गया, और उन्होंने टीम को 2012 में आईपीएल के खिलाड़ियों के मालिक बनाया।
  • गांगुली 2019 में भारतीय क्रिकेट के नए बोर्ड अध्यक्ष चुने गए थे, जिनकी केंद्रीय भूमिका में उन्होंने भारतीय क्रिकेट को नया दिशा देने का प्रयास किया।

यह केवल कुछ महत्वपूर्ण जानकारी है और सौरव गांगुली के बारे में और भी बहुत कुछ है। उनका क्रिकेट करियर और नेतृत्व भारतीय क्रिकेट के इतिहास में महत्वपूर्ण रहा है।

Sourav Ganguly cricketer complete information 01

Sourav Ganguly cricketer complete information01
Sourav Ganguly cricketer complete information01

क्रिकेट करियर:

  • सौरव गांगुली ने अपनी क्रिकेट करियर की शुरुआत 1992 में की थी, जब उन्होंने विश्व कप टेस्ट सीरीज में अपने पहले टेस्ट मैच में भाग लिया।
  • उन्होंने वनडे अन्तरविद्यालय (ODI) में भी बड़ी मात्रा में अद्भुत प्रदर्शन किए और जल्द ही अपने पूरे क्रिकेट करियर में भारतीय टीम का महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए।
  • उन्होंने 1996 में वनडे अन्तरविद्यालय विश्व कप में भारतीय कप्तान के रूप में पहले बार टीम का कमाली प्रमोट किया और सेमीफाइनल तक पहुँचाया।
  • सौरव गांगुली की कप्तानी में ही भारतीय टीम ने 2003 में वनडे अन्तरविद्यालय विश्व कप का फाइनल खेला था, जिसमें वह टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हारी थी।
  • उनकी कप्तानी में भारतीय क्रिकेट टीम ने विश्व क्रिकेट सीरीज जीतने में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया, जैसे कि 2001 में अज्ञात रूप से बनी ‘आईसीसी टेस्ट रैंकिंग’ में पहली जगह पर पहुँचने में।
  • सौरव गांगुली की क्रिकेट करियर में कुछ टेस्ट मैचों में फॉर्म कमबैक देखा गया था, लेकिन उन्होंने 2008 में अपने आंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया।

प्रमुख प्रशंसापत्र: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली को उनकी प्रशांसा का अद्वितीय दर्जा है, क्योंकि उन्होंने भारतीय क्रिकेट को नई ऊँचाइयों तक ले जाने का संकल्प लिया और टीम के खिलाड़ियों को स्वयं को विश्वस्तरीय खिलाड़ियों के साथ मुकाबला करने का साहस दिखाया।

प्रशासनिक कार्य: Sourav Ganguly cricketer complete information 01

  • सौरव गांगुली के क्रिकेट के अलावा प्रशासनिक क्षेत्र में भी महत्वपूर्ण योगदान है।
  • उन्होंने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के कोलकाता नाइट राइडर्स टीम की कप्तानी की और टीम को 2012 में पहली बार आईपीएल खिताब दिलाने में सफलता हासिल की।
  • उन्हें 2019 में भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया, जिससे वह भारतीय क्रिकेट की प्रबंधन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

समापन:

  • सौरव गांगुली एक महान क्रिकेटर, सफल कप्तान, और क्रिकेट प्रशासक हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को नए मानदंडों और उच्चतम स्तरों तक पहुँचाया। उनका योगदान भारतीय क्रिकेट के इतिहास में अमूल्य है।

Rahul Dravid cricketer complete information19

wikipedia